IIT से पास आउट होने के बाद इंजीनियरिंग छोड़ इन राजनेताओ ने संभाली देश की सत्ता

हमने ऐसे कई उदहारण देखे हैं जहां IIT कर ने के बाद लोगों ने एक दम अलग फ़ील्ड चुनी और उस में महारथ हासिल की है. भारतीय राजनीति में भी कुछ ऐसे राजनेता हैं जो कि IITians रह चुके हैं. मतलब ये तो तय है IIT में चले जाओ बहुत स्कोप है.

अजीत सिंह 
अजीत सिंह
अजीत सिंह

चौधरी अजीत सिंह  ने IIT खड़गपुर से पढ़ाई की थी. वह पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के के बेटे थे. वह भारत के कृषि मंत्री रहे और 2011 से केंद्र की यूपीए सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रहे. 6 मई, 2021 को कोविड-19 से संक्रमित होने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई.

मनोहर पर्रिकर 
मनोहर पर्रिकर
मनोहर पर्रिकर

मनोहर परिकर ने 1978 में IIT मुंबई से Metallurgical (धातुकर्म) में इंजीनियरिंग की थी. वह तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. वह भारत के रक्षा मंत्री भी थे और उत्तर प्रदेश से राज्य सभा सांसद भी रह चुके हैं. 2019 में Pancreatic cancer की वजह से उनकी मृत्यु हो गई.

जयराम रमेश 
जयराम रमेश
जयराम रमेश

कांग्रेस के दिग्गज नेता जयराम रमेश भी एक IITian हैं. उन्होंने IIT बॉम्बे से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है. वह वर्तमान में कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करने वाले राज्यसभा के संसद सदस्य हैं.

अरविंद केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने IIT खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की है.  केजरीवाल राजनीति में आने से पहले एक भारतीय राजस्व सेवा अधिकारी के रूप में काम करते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.